देश

NCPCR ने मालदा बम धमाके के मामले में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव, एडीजी को तलब किया

दोनों अधिकारियों को मालदा बम धमाके मामले में तलब किया गया है. (प्रतीकात्‍मक)

नई दिल्ली :

बाल अधिकारों की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय बाल अधिकार सरंक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) ने पिछले महीने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मालदा जिले में हुए देसी बम धमाके (Bomb Blast) के सिलसिले में राज्य के मुख्य सचिव एच.के. द्विवेदी और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) के. जयरमण को तलब किया है. आयोग ने दोनों अधिकारियों को घटना पर कार्रवाई रिपोर्ट की जानकारी देने के लिए बुलाया है, जिसमें चार बच्चे घायल हो गए थे. 

यह भी पढ़ें

NCPCR का यह समन पूर्व में भेजे गए पत्र के बाद आया है. आयोग ने पत्र भेजकर जांच की विस्तृत रिपोर्ट से अवगत कराने को कहा था लेकिन पश्चिम बंगाल के अधिकारियों की ओर से इस पर पर कोई जवाब नहीं दिया गया.पूर्व के पत्र में NCPCR ने घायल बच्चों को अच्छा इलाज मुहैया कराने को भी कहा था. 

दिल्ली के 1027 सरकारी स्कूलों में से सिर्फ 203 में प्रधानाचार्य, एनसीपीसीआर ने दिल्ली सरकार से मांगा जवाब

NCPCR ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को भेजे पत्र में कहा, ‘‘आयोग द्वारा 25 अप्रैल 2022 को भेजे गए पत्र के बावजूद अब तक आपके कार्यालय से संबंधित मामले में कोई जवाब या प्रतिक्रिया नहीं मिली है. आयोग शिकायत पर संज्ञान लेते हुए आपके कार्यालय से अनुरोध करता है कि मामले की तेजी से और विस्तृत जांच करें तथा ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाएं.”

फेसबुक, इंस्टाग्राम ने हटाया राहुल गांधी का पोस्ट, उजागर की थी रेप पीड़िता के परिवार की पहचान

आयोग ने मुख्य सचिव एच.के. द्विवेदी और एडीजी जयरमण को 20 मई को कार्रवाई रिपोर्ट और घटना में घायल बच्चों को चिकित्सा सहायता मुहैया नहीं कराने को लेकर जवाब के साथ उपस्थित होने को कहा है. 

आयोग ने चेतावनी दी है कि अगर वे उपस्थित होने में असफल होते हैं तो उन्हें दीवानी प्रक्रिया संहिता के तहत ‘‘नतीजे भुगतने होंगे.” पुलिस के मुताबिक, बच्चे गेंद समझकर बम से खेलने लगे कि तभी उसमें धमाका हो गया था. 

राहुल गांधी की पोस्ट न हटाने पर NCPCR ने फेसबुक और इंस्टाग्राम को नोटिस भेजे  


Source link

Related Articles

Back to top button