उज्जैन

राष्ट्रीय लोक अदालत आज 10 हजार से अधिक प्रकरणों का होगा निराकरण

Publish Date: | Sat, 14 May 2022 01:04 AM (IST)

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राष्ट्रीय लोक अदालत शनिवार को लगेगी, जिसमें चेक बाउंस, मोटर दुर्घटना, दीवानी, पारिवारिक विवाद जैसे राजीनामा योग्य 10 हजार से अधिक प्रकरणों का निदान 44 खंडपीठों से किया जाएगा। बकाया जल कर, संपत्तिकर जमा करने पर अधिभार में 25 से 100 फीसद तक की छूट मिलेगी। प्रकरण के निराकरण के लिए दोनों पक्षकारों को सूचित कर दिया गया है। बड़े बकायादारों को भी नोटिस भेज दिए गए हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं न्यायाधीश अरविंद जैन ने बताया कि 44 खंडपीठों से प्रकरणों का निराकरण किया जाएगा।

नगर निगम आयुक्त अंशुल गुप्ता ने बताया कि लोक अदालत के माध्यम से तीन करोड़ रुपये संपत्तिकर वसूलना निर्धारित किया है। बड़े बकाया संपत्ति कर के 644 प्रकरण कोर्ट को भेजे गए हैं। बकाया संपत्तिकर 50 हजार से अधिक है तो सरचार्ज में 100 फीसद, 1 लाख रुपये तक है तो 50 फीसद, 1 लाख रुपये से अधिक है तो 25 फीसद छूट मिलेगी। जल कर 10 हजार रुपये तक बकाया है तो सरचार्ज में 100 प्रतिशत की छूट मिलेगी। बकाया 10 हजार से 50 हजार रुपये तक है तो सरचार्ज में 75 फीसद छूट मिलेगी। 50 हजार रुपये से अधिक बकाया है तो सरचार्ज में 50 फीसद छूट मिलेगी। नागरिक अपना बकाया संपित्तकर नगर निगम उज्जैन की वेबसाइट पर जाकर आनलाइन भी जा कर सकते हैं। इसके लिए पोर्टल पर क्विक सर्विस प्रापर्टी टैक्स पेमेंट आप्शन दिया गया है, जिसे क्लिक कर संपत्तिकर आइडी डालने पर टैक्स का भुगतान किया जा सकता है।

तीन अपर आयुक्त के बीच नए सिरे से कार्य विभाजन

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर निगम आयुक्त अंशुल गुप्ता ने अपने तीनों अपर आयुक्त के बीच नए सिरे से कुछ कायों का विभाजन किया है। वर्तमान कार्य के साथ मनोज पाठक को प्रकाश विभाग और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की जिम्मेदारी दी है। आदित्य नागर को वर्कशाप और शिल्पज्ञ विभाग की कमान सौंपी है। आशीष पाठक को प्रधानमंत्री आवास योजना की जिम्मेदारी सौंपी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local

 


Source link

Related Articles

Back to top button