उज्जैन

जानकारों का मत…जिस दिन दाह संस्कार हो उसी दिन करें अस्थि संचय

Publish Date: | Mon, 03 May 2021 10:56 PM (IST)

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना महामारी के चलते प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है। चक्रतीर्थ पर शवदाह के लिए ओटले कम पड़ने लगे हैं। इधर जो लोग दाह संस्कार कर जाते हैं, वें तीन दिन तक अस्थि संचय करने नहीं आते हैं। इससे समस्या और बढ़ रही है। मामले में धर्मशास्त्र के जानकारों का कहना है कि तीन दिन में अस्थि संचय की शास्त्रीय मान्यता नहीं है। परंपरा के अनुसार लोग ऐसा कर रहे हैं। शास्त्र में जिस दिन दाह संस्कार होता है, उसी दिन अस्थि संचय का नियम बताया गया है। लोगों को संकट की इस घड़ी में मानवता के नाते परंपरा छोड़कर शास्त्रीय मान्यता के अनुसार दाह संस्कार के बाद उसी दिन अस्थि संचय करना चाहिए। यह समय शास्त्र की बात स्वीकार कर लोगों का सहयोग करने का है।

ये बोले विद्वतजन….

दाह संस्कार के दिन हो अस्थि संचय

अंत्येष्टि संस्कार में शास्त्र का स्पष्ट मत है कि जिस दिन दाह संस्कार किया जाए, उसी दिन अस्थि संचय होना चाहिए। तीन दिन में जो लोग अस्थि संचय करते हैं, उसका शास्त्रीय प्रमाण नहीं मिलता है। कोरोना महामारी में लोगों को शास्त्र के मत का पालन करते हुए दाह संस्कार के बाद अस्थि संचय करना चाहिए।

-पं.अमर डब्बावाला,ज्योतिर्विद

आर्वाचन ग्रंथों में पहले दिन अस्थि संचय का विधान

धर्मशास्त्रीय परिपेक्ष में अंत्येष्टि विधान का उपना महत्व है। आवार्चन व प्राचीन धर्म ग्रंथ में अंत्येष्टि के साथ उसी दिन अस्थि संचय का विधान बताया गया है। वर्तमान परिपेक्ष में इस मत का महत्व और भी बढ़ जाता है। स्वजनों को दाह संस्कार के बाद चिता ठंडी होने पर प्रथम दिवस ही अस्थि संचय कर लेना चाहिए।

-डा.वेदप्रकाश शुक्ल, धर्मशास्त्र के जानकार

ब्राह्मण समाज पहले ही दिन करता है अस्थि संचय

शास्त्रीय परंपरा में अंत्येष्टि विधान में अनेक विचार है लेकिन कर्मकांड में पहले ही दिन अस्थि संचय करना अनेक कारणों से उपयुक्त माना गया है। संपूर्ण ब्राह्मण समाज पहले ही दिन अस्थि संचय के विधान को मान्य करता है। लोगों को भी तीन दिन के बजाय पहले ही दिन अस्थि संचय करना चाहिए।

-डा.संतोष पंड्या, कर्मकांड विशेषज्ञ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 

Show More Tags


Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
vvanews
Close